बुधवार, 6 दिसंबर 2006

देवरिया जनपद : भाषा एवं धर्म

देवरिया जनपद में मुख्य रूप से हिन्दी भाषा बोली जाती है ।
देवरिया जनपद की कुल जनसंख्या की लगभग ९६ प्रतिशत जनता हिन्दी, लगभग ३ प्रतिशत जनता उर्दू और एक प्रतिशत जनता के बातचीत का माध्यम अन्य भाषाएँ हैं ।
बोली की बात करें तो ग्रामीण जनता के साथ-साथ अधिकांश शहरी जनता भी प्रेम की बोली भोजपुरी बोलती है ।
कुल जनसंख्या की दृष्टि से इस जनपद में लगभग चौरासी प्रतिशत हिन्दू, लगभग पंद्रह प्रतिशत मुस्लिम और एक प्रतिशत अन्य धर्म को मानने वाले हैं । इस जनपद की जनता आपस में प्रेम-भाव से रहते हुए सबके दुख-सुख में सहभागी बनती है । या यूँ कहें "देवरिया जनपद रूपी उपवन को हिंदू, मुस्लिम, सिख, इसाई, बौद्ध आदि पुष्प अपनी सुगंध से महकाते हैं और ये सुगंध आपस में मिलकर पूरे भारत को गमकाती है ।"

3 टिप्‍पणियां:

ratna ने कहा…

आपके जनपद के बारे में जान कर अच्छा लगा।

ravi ने कहा…

its very good to see a blog on the internet about our native land . but if you could please make a correction in the part " "देवरिया जनपद : भाषा एवं धर्म" where you have mentioned that the main language spoken in deoria is HINDI(देवरिया जनपद में मुख्य रूप से हिन्दी भाषा बोली जाती है ।) BUT AS FAR AS I KNOW WE MOSTLY SPEAK """" BHOJPURI"""" IN DEORIA . SO I REQUEST YOU TO PLEASE MAKE THIS CORRECTION IN YOUR ARTICLE AND THEN PUBLICISE IT .


OVERALL IT IS A VERY NICE TO SEE SOMEONE DOING THIS MUCH ABOUT DEORIA AND I AM VERY VERY THANKFUL TO YOU FOR ALL THIS.


""""""" ALL THE BEST""""""""

प्रभाकर पाण्डेय ने कहा…

रवि जी, बहुत-बहुत धन्यवाद।

यहाँ भाषा की बात हो रही है न कि बोली की भोजपुरी बोली है। अभी तक इसको भाषा का दरजा प्राप्त नहीं हैं।
आपने नीचे की पंक्तियों में देखा होगा कि मैंने भोजपुरी का भी जिक्र किया है जो पूरे देवरिया क्षेत्र में बोली जाती है।
एक बार फिर। बहुत-बहुत धन्यवाद। किसी भी प्रकार के सुझाव के लिए आप pandey(AT)iitb.ac.in पर मेल कर सकते हैं।